IS HONG KONG PART OF CHINA I हिंदी में जाने

IS HONG KONG PART OF CHINA आपने कुछ समय पहले न्यूज़ पेपर ,न्यूज़ चेनल्स,न्यूज़ वेबसाइट आदि  में सुना और पढ़ा होगा होंगकोंग में हो रहे प्रोटेस्ट के बारे में कैसे वहा के लाखो  निवासी चाइना के खिलाफ सडको पर प्रदर्शन कर रहे थे I  क्या कारण है हांगकांग में हो रहे चाइना के खिलाफ इस प्रदर्शन का चाइना क्यों होंगकोंग को अपना हिस्सा मानता है इस सभी सवालों  का जबाब आपको इस आर्टिकल में मिल जाएगा I

हांगकांग साउथ चाइना सी के किनारे वसा एक महानगर है जो अपने आधुनिक लाइफ स्टाइल ,गगनचुम्बी इमारतो के लिए प्रसिद है I हांगकांग में विश्व की बड़ी-बड़ी कंपनियों के हेड ऑफिस स्थित है जिसके कारण ये एशिया का एकोनिमिक और फाइनेंसियल हब है I


    is_hong kong_part_of_china


    Hong kong history

    सन् 1842 से पहले hong kong चाइना का ही भाग था पर  1842 में हुए अफीम युद्ध के  बाद से ये ब्रिटेन के कब्जे में आ गया था I hong kong चाइना का  तटीय हिस्सा होने के कारण हमेशा से ही व्यापार के लिए एक महत्वपूर्ण स्थान रहा है I चाइना में बनाने वाली सिल्क आदि  सामान यही से यूरोपीय देशो को भेजे जाते थे और यही से चाइना में विदेशो से आने वाला सामान आया करता था I

    उस समय भारत में बहुत अफीम पैदा होती थी जिसका व्यापार ईस्ट इंडिया कंपनी चाइना में करती थी जो hon kong से ही चाइना में आया  करता था I  चाइना की आवादी में अफीम की बढती लत को देखते हुए चाइना के राजा ने ईस्ट इंडिया  कंपनी को चाइना में अफीम के व्यापर करने पर रोक लगा दी और उनके माल वाहक जहाजो को तटो तक नहीं आने दिया I जिसका परीणाम युद्ध हुआ जिसको अफीम युद्ध के नाम से जानते है इस युद्ध में ईस्ट इंडिया कंपनी ने चाइना को बहुत हानि पहुंचाई जिसके कारण चाइना को झुकान पड़ा और न चाहते हुए भी एक संधि करनी पड़ी जिसको ट्रीटी ऑफ़ नेन्किंग (treaty of nanking) कहा जाता है I

    treaty of nanking के अंतर्गत ब्रिटेन ने चाइना से व्यापर करने के  लिए एक परमानेंट एरिया माँगा जो        hong kong था I  29 august 1842 को hong kong आधिकारिक रूप से ब्रिटन को ट्रान्सफर कर दिया गया I सन् 1898 में चाइना और ब्रिटेन के बीच एक और संधि हुई जिसमे ब्रिटेन ने कहा की हम होन्गकोंग को 99 सालो तक ही रखेंगे उसके बाद आपको वापिस कर देंगे I

    पर इन 99 सालो के बीतने से पहले ही पूरी तरह से ब्रिटेन के रंग मी रंग चुके hongkong को चाइना के हाथो  में जाने का डर सताने लगा I एक तरफ जहाँ आधुनिक लाइफ स्टाइल वाला होन्ग कोंग और एक तरफ कम्युनिस्ट देश जहाँ पूर्णरूप से बोलने पर भी पावंदी है इनका ताल मेल होना बहुत ही मुश्किल था जिसका हल निकालते हुए  ब्रिटेन और चाइना के वीच के संधि हुई जिसके तहत चाइना ने ये कहा की आने वाले 50 सालो तक hong kong के बेसिक सिस्टम के साथ कोई छेड़ छाड़ नहीं होगी मतलब इसकी स्थिति पहले की तरह ही बनी रहेगी पर अब ये चाइना का ही हिस्सा रहेंगे और 1997 में होन्ग कोंग को चाइना को ट्रान्सफर कर दिया गया I

    IS_HOG KONG _PART _OF _CHINA

     is hong kong a country 

    नहीं हांगकांग एक अलग देश नहीं है  ये चाइना के स्पेशल ऑटोनोमस रीजन (SAR REGION) है जिसका पूरा नाम HONG KONG SPECIAL ADMINISTRATIVE  REGION है I इतना लम्बा नाम कोई यूज़ नहीं करता और बोलने में भी  आसानी हो इसलिए केवल hongkong ही कहते है I चाइना ने इसको कुछ हद तक स्वायत्ता दे राखी है इसलिए ही इसको  अलग country कहा जाने लगा है जो की सच नहीं  है I

    चाइना ने हांगकांग को क्या स्वायत्ता दी है

    1 hongkong में अपनी सरकार है और यहाँ एक मल्टी पार्टी असेम्बली भी है I जवकि  इसके विपरीत चाइना के अंदर एक कमुनिस्ट सरकार है I

    2 इसका  LEGAL SYSTEM चाइना से अलग है यहाँ एक अलग संबिधान लागू होता है I

    3 honkong के पास अपनी  पुलिस है I

    4 hongkong के पास अपनी अलग करेंसी है I

    5 hongkong के पास अपनी immigration policy है मतलब आपको अगर hongkong जाना है तो उसके लिए वीजा hongkong govt. आपको देगी चाइना से इसका कोई मतलब नहीं है I इसका अपना अलग पासपोर्ट भी है I

    6 hongkong के पास अपनी अलग स्पोर्ट टीम है I ओलिंपिक आदि खेलो में यह चाइना से अलग अपने खिलाडी भेजता है I  

    7 hongkong की आधिकारिक भाषा अलग है I जहाँ चाइना की भाषा मंदारिन है वही hongkong की भाषा इंग्लिश और केंटोनीज़ है I

    8 hongkong का एजुकेशनल सिस्टम चाइना से अलग है I

    9  hongkong का पोस्टल सिस्टम चाइना से अलग है I

    10 कुछ हद तक EXTERNAL RELATION में भी छूट दी गयी है I मतलब hongkong भारत या outher country में अपना दूतावास नहीं खोल सकता पर वह trade और cultural office खोल सकता है I भारत या outher country भी वहा अपना दूतावास नहीं खोल सकते केवल consulate (वाणिज्य दूतावास) खोलने की परमिशन प्राप्त है I

    11 hongkong का अपना एक अलग झंडा है I

    IS_HOG KONG _PART _OF _CHINA

    चाइना का हांगकांग पर क्या कंट्रोल है

    चाइना ने hongkong को अपनी मिलट्री बनाने की इजाजत नहीं दी है 

    ,चाइना की PLA (people’s liberation army) ही  hongkong की रक्षा 

    करेगी ,united nation और पुरे world को ये मानन होगा की hongkong 

    चाइना का ही एक हिस्सा है , जिसको सभी देश मानते भी है I

    चाइना और hongkong में अलग अलग govt. होने के कारण ही इसको  one nation two system (एक 

    दो शासन प्रणाली )कहते है I 

    Hong kong currency

    hongkong curreny चाइना से अलग है ,जहा चाइना में युआन का प्रयोग 

    होता है वही hong kong में 

    में hong kong dollar का प्रयोग होता है I hongkong का 1  dollar भारतीय 

    9 रूपये के बराबर है I    

     Hongkong Protest

    हलाकि चाइना और hongkong एक ही देश के दो हिस्से है पर दोनों की अपनी अलग विविधताएँ है I hongkong ब्रिटिश कॉलोनी होने के नाते यहाँ की भाषा,संस्क्रती चाइना से बहुत अलग है I चाइना में कम्युनिस्ट शासन है जिसके विपरीत hongkong में मल्टी पार्टी govt .है जो इन दोनो में सबसे बड़ा अंतर है I hongkong के निवासी कभी नहीं चाहते की वो चाइना का भाग कहलाए और चाइना उन पर शासन करे जिसका वो विरोध करते आये है ,उधर चाइना भी अपने देश के इस हिस्से को पाने के लिए लगातार दवाब बनता जा रहा है और यही कारण है की hongkong में चाइना के खिलाफ प्रोटेस्ट होते रहते है I पिछले कुछ सालो से ये प्रोटेस्ट लगातार बढ़ रहे है I आइये जानते हे पिछले कुछ सालो में हुए hongkong प्रोटेस्ट के बारे में जो बहुत समय तक न्यूज़ में रहे I  

    IS_HOG KONG _PART _OF _CHINA  

    Hong kong umbrella movement

    hongkong में chief executive का एक पद होता है जिसका चुनाव 2017 में होना था पर इसमे चाइना ने एक बदलाब कर दिया जिसके तहत इस पद के चुनाव के लिए  5 लोग खड़े होते है और इन पांच लोगो का चुनाव एक स्क्रीनिंग कमेटी करेगी और ये कमेटी चाइना की सरकार बनायेगी जो कभी नहीं चाहेगी की चुनाव के लिय कोई ऐसा व्यक्ति खड़ा हो जो hongkong के पूर्ण स्वायत्ता के लिए मांग करे I यही कारण था 2014 में हुए प्रोटेस्ट का इस प्रोटेस्ट में लोग  मुख्य रूप से पीले रंग के छाते लेकर शामिल होने लगे जिस कारण इसको umbrella revolution कहाजाने लगा I इस प्रोटेस्ट का कोई फायदा नहीं हुआ  चाइना ने अपनी नीतियों से इसको पूर्ण रूप से दबा दिया था I

    IS_HOG KONG _PART _OF _CHINA



    Hong kong extradition bill 

    hongkong govt.द्वारा चाइना की तरफ से एक बिल पेश किया गया जिसमे कहा गया की अब hongkong से अपराधियों का प्रत्यपर्ण चाइना आसानी से हो जायेगा मतलब कोई व्यक्ति अगर hongkong में कोई अपराध करता है तो उसको सजा काटने के लिए चाइना भी भेजा जा सकता है I असल में ये बिल hongkong के फ्रीडम को खत्म करने के लिए लाया गया था I जैसे चाइना अपने यहाँ सरकार के खिलाफ आवाज उठाने वालो को जेल भेज देता है वही अब hongkong के साथ होने वाला था I hongkong की आजादी के लिए आवाज उठाने वालो को पकड़ कर चाइना अपने यहाँ आसानी से बंद कर सकता  था जिसका विरोध यहाँ के निवासियो ने किया और  लाखो hongkong निवासी चाइना के खिलाफ सडको पर आ गये  ये प्रोटेस्ट बढ़ते-2 riots में बदल गया   जिसको दबाने के लिए चाइना को अपनी सेना को उतरना पड़ा पर है विरोध इतना था की सेना भी इसको दबा नहीं पायी I लेकिन चाइना से ही फेले कोरोना वायरस के कारण ये प्रोटेस्ट धीमा पड़ता गया औअर अन्तः बिल्कुल खत्म हो गया I  पर अब भी इसका छुट पुट विरोध चालू है I

     

    -हांगकांग की तरह  मकाऊ भी चाइना का ही भाग है जिसको hongkong की तरह ही स्वायत्ता दी गयी है I 





    Post a Comment

    0 Comments