Giloy ke fayde । giloy benefits in hindi

Giloy ke fayde कोरोना जैसी महामारी से लड़ने के लिए अपने शरीर की इम्युनिटी को बढ़ाना बहुत आवश्यक है । शरीर की इम्युनिटी को मजबूत करने के लिए आयुर्वेद में बहुत सारी औषधियों के बारे में बताया गया है पर आज हम आपको आयुर्वेद के उस खजाने के बारे में बताएँगे जो शरीर की रोग प्रतिरोधक छमता बढ़ाने  में बहुत सहायक है उस औषधि का नाम गिलोय है ।

Giloy_ke _fayde

giloy एक ऐसी चमत्कारी औषधि है जो अनेको रोगों को दूर करने में सहायक है । गिलोय को आयुर्वेद में अमृत तुल्य बताया गया है जो मानव शरीर के अनेको रोगों से लड़ने में सहायक है । गिलोय एक तरह की वेल होती है जो देखने में पीपल के पत्तो की तरह दिखती है ।

giloy benefits in hindi  

गिलोय मुख्यतः पुराने वनों, जंगलो आदि में पायी जाती है पर अब इसकी व्यापारिक रूप से खेती भी की जाती है जिससे अधिक से अधिक लोगो तक इसको पहुचाया जा सके और सब इस औषधि का लाभ ले सके । गिलोय के बारे में एक कहावत है कि इसकी वेल जिस पेड़ पर चढ़ती है उसके गुणों को अपने अंदर ले लेती है इसलिए नीम के पेड़ पर चढ़ी गिलोय बहुत अच्छी मानी जाती है क्योकि नीम में भी अनेको औषधिय गुण होते है ।

giloy ke fayde 

जब से इस चमत्कारी औषधि के गुणों का पता चला है तब से बाजारों में  गिलोय का जूस आराम से मिल जाता है जिसको पीने के अनेको लाभ है ।

GILOY_KE_FAYDE

बुखार के लिए गिलोय 

आयुर्वेद के वरदान गिलोय बुखार ठीक करने में बहुत सहायक होता है । अगर आपको जल्दी-जल्दी बुखार आता है तो गिलोय का सेवन करना आपके लिए बहुत हितकारी होगा । गिलोय का सेवन डेंगू,मलेरिया जैसे जानलेवा बुखार से लड़ने के लिए बहुत कारगर साबित होता है ऐसा आयुर्वेद में कहा गया है ।

GILOY_KE_FAYDE

डायबिटीज के लिए गिलोय 

डायबिटीज एक ऐसी बीमारी है जो अनियोजित खान पान के कारण बढती उम्र में बहुत से लोगो को हो जाती है । डायबिटीज के कई चरण होते है टाइप 1  डायबिटीज सबसे हानि कारक होती है जिसमे इन्सुलिन लेने तक की जरुरत  पड़ जाती है । टाइप 2 डायबिटीज सामान्य स्तर की डायबिटीज है जिसको दवाओ और लाइफस्टाइल में सुधार करके ठीक किया जा सकता है । गिलोय डायबिटीज में रामबाण की तरह कार्य करता है जिसके नित्य प्रतिदिन सेवन से डायबिटीज को कंट्रोल किया जा सकता है ।

GILOY_KE_FAYDE

इम्युनिटी बढाए गिलोय 

बढती उम्र ,अनियोजित खानपान ,केमिकल युक्त भोजन खाने से शारीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता कम हो जाती है जिससे आम सर्दी जुखाम जैसी बीमारियाँ  भी जल्दी से हमे पकड़ लेती है और बिना दवाओं के ठीक भी नहीं होती है ऐसे मे शरीर की इम्युनिटी अपनी दिनचर्या बदलकर,योग करके और साथ ही नित्य गिलोय का सेवन करने से बढ़ाई जा सकती है ।

GILOY_KE_FAYDE

आर्थराइटिस के लिए गिलोय 

आर्थराइटिस एक ऐसी बीमारी है जो व्रदावस्था में अधिकतर लोगो को हो ही जाती है । आर्थराइटिस के अंदर हाथ पैरो में अत्यधिक दर्द होता है जिससे चलने या कोई भी काम करने में बहुत तकलीफ होती है । पर गिलोय का सेवन करने से आर्थराइटिस में बहुत लाभ मिलता है ।

GILOY_KE_FAYDE

स्ट्रेस दूर करने के लिए 

भाग दौड़ भरे इस जीवन में सभी को कभी न कभी थकान और स्ट्रेस हो जाता है । जिससे बचने के लिए कोई योगा करता है तो कोई स्ट्रेस दूर करने के लिए  दवाओ का सहारा लेता है पर गिलोय के जूस का रोज सेवन करने से स्ट्रेस से बहुत राहत मिलती है । गिलोय शरीर में मौजूद टोक्सिन को बाहर निकाल देता है और दिमाग को शांत रखने में बहुत मदद करता है ।

पीलिया के लिए 

पीलिया जैसे खतरनाक रोग में भी गिलोय का सेवन करना बहुत फायदेमंद रहता है अगर किसी को भी पीलिया हुआ है तो गिलोय के पत्ते छांछ के साथ पीस कर खाने से बहुत फायदा होता है ।

GILOY_KE_FAYDE

पाचन बढ़ाने के लिए 

गिलोय का रोज सेवन करने से ये फायदा भी है की ये आपके पाचन को बहुत दुरुस्त रखता है ये पाचन से सम्बंधित सभी तरह की समस्याओ को दूर करता है । गैस ,पेट की जलन ,अपच जैसी सभी पेट की समस्याओ को दूर करने में  गिलोय अमृत की तरह कार्य करता है ।

सर्दी खांसी के लिए 

बदलता मौसम अपने साथ खाँसी,जुखाम,वायरल फ्लू जैसी बीमारियाँ लेकर आता है । जो कोई इस मौसम में सावधानी नहीं बरतता वही इन बीमारियों का शिकार हो जाता है या आपको  पहले से ही मौसमी खांसी जुखाम है तो रोज गिलोय का सेवन करना आपके लिए बहुत फायदेमंद होगा ।

बढती उम्र के लिए 

बढती उम्र के साथ साथ इसके लक्षण भी चेहरे पर साफ़ दिखाई देने लगते है जैसे डार्क सर्कल,झुर्रियां, पिंपल्स या मुंहासे और महीन लाइनों इन सबको कम करने के लिए वैसे तो बाजार में बहुत सी एंटी एजिंग क्रीम मिल जाएँगी पर आयुर्वेद में इसके उपचार के लिए गिलोय का सेवन किया जाता है । गिलोय के   रोज सेवन करने से बढती उम्र के लक्षणों को काफी हद तक कम किया ज सकता है ।

मोटापा दूर करने  के लिए

वह लोग जो मोटापे से बहुत परेशान हो चुके है उनके लिए भी गिलोय बहुत उपयोगी है । मोटापे से परेशान लोगो के लिए रोज एक चम्मच गिलोय के रस को शहद मिलाकर दिन में दो ब़ार सुबह शाम लेने से मोटापे में राहत मिलती है ।

गिलोय का सेवन कैसे करे 

गिलोय का सेवन काढ़ा या जूस बनाकर ही करना चाहिये ,जिसकी मात्रा 20 -30 मिली.ग्राम के बीच में ही हो ।

giloy image

GILOY_KE_FAYDE

गिलोय के नुकसान giloy side effects

गिलोय के लाभ की तरह गिलोय के कुछ नुकसान भी होते है ।

-गिलोय डायबिटीज कम करता है। इसलिए जिन्हें कम डायबिटीज की शिकायत रहती है उनको गिलोय का सेवन नहीं करना चाहिए ।

-गर्भावस्था के दौरान भी गिलोय का सेवन नहीं करना चाहिए ।

नोट –किसी भी आयुर्वेदिक औषधि का सेवन चिकित्सक के परामर्श के अनुसार ही करे । केवल ये लेख पढ़ कर गिलोय का सेवन नहीं करे ये लेख पढ़ कर गिलोय का सेवन करने से किसी भी तरह की हानि होने पर हमारा कोई उत्तरदायित्व नहीं होगा । 

Post a Comment

0 Comments